आज जन्मे लोगों का कैसा रहेगा दिन, जानिए कैसे बीतेगा साल, क्या करने से मिलेगा लाभ। 

hjghjg

18 जनवरी 2024 गुरुवार को पैदा हुए लोग कैसे इस साल को बिताएंगे और ग्रहों की दशा उनके लिए कैसे रहेगी। यह बात उनके मन में कई दिनों से चल रही है। आज जन्में लोगों का दिन और साल कैसा रहेगा। किन ग्रहों की कृपा बनी रहेगी और किन रत्नों के पहनने से मन को और जीवन को शान्ति मिलेगी, जानिए प्रख्यात हस्तरेखा विशेषज्ञ विमल जैन से। 

आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ । आपका जन्मतिथि 18 जनवरी है। अंक ज्योतिष के अनुसार आपकी जन्मतिथि का स्वामी ग्रह मंगल है । इस माह का अधिपति ग्रह शनि है। आप शनि एवं मंगल ग्रह के सम्मिलित प्रभाव से आजीवन प्रभाव से युक्त रहेंगे। आपका व्यक्तित्व आकर्षक होगा। आपका स्वभाव उग्रता लिए होगा। आपका जीवन संघर्षमय रहेगा। आप अपने जीवन में स्वतन्त्रता को अधिक महत्व देंगे। आपका दृष्टि कोण व्यापक होगा।

आप अपने गुणों का उपयोग नहीं कर पायेंगे। आपका दाम्पत्य जीवन अनुकूल नहीं कहा जा सकता। आपके निकट के सहयोगी भी अपके व्यवहार से विरोधी बन जायेंगे। बाहरी आडम्बर एवं तड़क-भड़क आप अधिक पसन्द करेंगे। जन कल्याण की ओर आपका रुझान अधिक रहेगा। आप अपने जीवन को रहस्य के घेरे में रखना पसन्द करेंगे। आपका मिजाज गर्म होगा। नेतृत्व गुण की आपमें प्रधानता रहेगी ।

आप हर परिस्थिति में सामान्य रहेंगे । सुख-समृद्धि हेतु आपको चाहिए कि आप नियमित रूप से देव अर्चना अवश्य करें । अपनी आप का कुछ निश्चित प्रतिशत धन असहायों की मदद में लगावें। तांबे का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करें। ताम्र पत्र में रखे जल का सेवन अवश्य करें। ताम्र पत्र लकड़ी के पीढ़े पर होना चाहिए। मंगलवार का ब्रत रखे। सुख-समृद्धि के लिए रत्न या उपरत्न तथा यन्त्र विधि-विधानपूर्वक धारण करें।

आपके लिए अनुकूल :-

मन्त्र : ॐ अं अंगारकाय नमः
मास :  फरवरी, जून एवं नवम्बर
व्रत :  मंगलवार
वर्ष : 9, 18, 27, 36, 45, 54, 63, 72
दिन : सोमवार, मंगलवार एवं गुरुवार 
रंग : लाल एवं नारंगी
दिनांक : 9, 18, 27
जन्मरत्न : मूंगा
अंक :  1, 3, 6 
उपरत्न : लाल अकीक

वर्ष का महत्वपूर्ण समय - 15 मार्च से 4 अप्रैल, 31 अक्टूबर से 4 नवम्बर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story