Chaitra Navratri 2024: चैत्र नवरात्रि में भूलकर भी न खरीदें ये चीजें, वरना हो सकता है भारी नुकसान

​​​​​​​
m

सनातन धर्म में नवरात्रि पर्व को अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से लेकर नवमी तिथि तक चैत्र नवरात्रि का त्योहार विधि-विधान से मनाया जाता है। इस साल चैत्र नवरात्रि 09 अप्रैल 2024 को शुरु हो रही है और इसका समापन 17 अप्रैल 2024 को होगा। ऐसे में 09 अप्रैल को घटस्थापना कर मां दुर्गा की विशेष पूजा कर सकते हैं। ऐसी मान्यता है कि जो व्यक्ति मां दुर्गा के नौ दिनों तक पूजा-पाठ करता है, उसके सारे कार्य सिद्ध होते और सभी कार्यों में भी सफलता मिल सकती है। लेकिन नवरात्रि के दौरान क्या नहीं खरीदना चाहिए। इसके बारे में जानना काफी जरुरी है, आइए आपको बताते हैं।

m

काले वस्त्र न खरीदें

चैत्र नवरात्रि के दैरान भूलकर भी काले वस्त्र नहीं खरीदना चाहिए। क्योंकि इससे व्यक्ति को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं इन नौ दिनों में काले वस्त्र पहनने से बचना चाहिए। अगर आप वर्क प्लेस पर काले कपड़े पहनकर जाते हैं तो उस व्यक्ति को कभी किसी भी काम में सफलता नहीं मिल सकती है और सौभाग्य में भी कमी आने लग जाती है। इसलिए काले वस्त्र खरीदने और पहनने से बचें।

लोहे का सामान न खरीदें

चैत्र नवरात्रि के दौरान लोहे से संबंधित किसी भी वस्तु को खरीदना नहीं चाहिए। इससे व्यक्ति को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है और कार्य में रुकावट आने लगती है।

m

चावल न खरीदें

नवरात्रि के नौ दिनों में कभी भी चावल न खरीदें। इसके अलावा अगर आप चावल खरीद रहे हैं तो ननरात्रि से पहले ही खरीद लें। इससे किए गए सारे पुण्य फल शून्य हो सकते हैं और शुभ फलों की प्राप्ति नहीं होती है।

इलेक्ट्रॉनिक सामान न खरीदें

चैत्र नवरात्रि के दौरान इलेक्ट्रॉनिक सामान न खरीदें, इससे कुंडली में स्थित ग्रहों की स्थिति पर अशुभ प्रभाव पड़ सकता है और व्यक्ति को कभी सफलता नहीं मिलती है। अगर आप इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदने की सोच रहे हैं, तो नवरात्रि  के समाप्त होने के बाद ही खरीदें। इससे ग्रह दोष से भी छुटकारा मिल सकता है।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story