अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना पहली बार 2,304.96 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंचा

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना पहली बार 2,304.96 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंचा
अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना पहली बार 2,304.96 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंचा


नई दिल्ली, 04 अप्रैल (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत लगातार नए-नए रिकॉर्ड बना रही है। आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना पहली बार 2,304.96 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंच गया। इसी तरह चांदी के भाव में भी तेजी जारी है। आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी ने 27.35 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर कारोबार किया, जो जून, 2021 के बाद अभी तक का सर्वोच्च स्तर है।

जानकारों के मुताबिक अमेरिका में ब्याज दरों में कटौती होने के संकेत के कारण वर्ल्ड गोल्ड मार्केट में तेजी का रुख बना है। अमेरिकी फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल ने बुधवार को ही ब्याज दरों में कटौती का सिलसिला इसी साल शुरू होने का संकेत दिया था। इसी वजह से सोने और चांदी की कीमत को भी सपोर्ट मिला है। इसके साथ ही कई देशों के केंद्रीय बैंकों ने सोने की खरीद की है, जिसकी वजह से भी वर्ल्ड गोल्ड मार्केट में सोने की डिमांड लगातार बनी हुई है।

बुलियन मार्केट एक्सपर्ट मयंक मोहन के मुताबिक जियो पोलिटिकल वजह से भी सोने की कीमत को सपोर्ट मिल रहा है। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध तथा दुनिया के कुछ अन्य क्षेत्र में भी टकराव की आशंका बनने की वजह से निवेशक अपना पैसा सुरक्षित निवेश के रूप में गोल्ड मार्केट में लगा रहे हैं। दूसरी ओर, दुनिया के कई बड़े देश के केंद्रीय बैंकों द्वारा गोल्ड रिजर्व को मजबूत करने के लिए जून 2023 के बाद से ही लगातार खरीदारी की जा रही है।

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक 9 महीने की इस अवधि में चीन के केंद्रीय बैंक ने सबसे अधिक सोने की खरीदारी की है। जबकि भारत के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और कजाकिस्तान का केंद्रीय बैंक सोने की खरीदारी करने के मामले में दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे हैं।साल 2024 के दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत में अभी तक 10 प्रतिशत से अधिक की तेजी आ चुकी है।

हालांकि, विशेषज्ञों का मानना है कि सोना फिलहाल सर्वोच्च स्तर पर पहुंच चुका है। इसलिए छोटे निवेशकों को संभल कर खरीदारी करनी चाहिए। क्योंकि आने वाले कुछ दिनों में गोल्ड मार्केट में करेक्शन का दौर शुरू हो सकता है। ऐसा होने पर छोटे निवेशकों को नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है।

हिन्दुस्थान समाचार/योगिता/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story